Donate Us

Followers

Saturday, October 31, 2020

युवाओं का प्रबल उत्साह गवाह है कि अफसरशाही सरकार जा रही है और जनता की सरकार आ रही है - तेजस्वी यादव

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के दुसरे चरण के मतदान का समय नजदीक आ रहा है और जैसे जैसे समय बितता जा रहा है बिहार का सियासी पारा अपनी चरम सीमा पर पहुँच रहा है। बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र चुनाव प्रचार के दौरान राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने नितिश कुमार की सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि युवाओं के अंदर बदलाव का प्रबल उत्साह यह गवाह है कि ये अफ़सरशाही सरकार जा रही है और जनता की सरकार आ रही है।

Tejasvi Yadav @ Desh Rakshak News
बिहार विधानसभा चुनाव के प्रचार प्रसार के दौरान तेजस्वी यादव


चिरैया विधानसभा क्षेत्र से महागठबंधन प्रत्याशी के पक्ष में चुनाव प्रचार करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि यह चुनाव जनता बनाम नीतीश सरकार का है। जिसमें जनता कमाई, दवाई, पढ़ाई, सिंचाई, सुनवाई और कारवाई का इतंजाम करने वाली गरीब हितैषी सरकार चाहती है। उन्होने बिहार की जनता से आह्वाण किया है कि यह महज़ चुनाव नहीं बल्कि बेरोज़गारी हटाओ आंदोलन भी है। बिहार को विकसित प्रदेश बनाने एवं बेरोज़गारी, महँगाई और गरीबी हटाने की इस मुहिम में आपका सहयोग अपेक्षित है।


तेजस्वी यादव नितिश कुमार पर हमलावर होते हुए कहा कि आदरणीय नीतिश जी के शासनकाल में अब तक 30 हज़ार करोड़ के 60 बड़े घोटाले हुए है इनमें से 33 तो माननीय प्रधानमंत्री जी आज से 5 वर्ष पूर्व स्वयं गिना रहे थे। उसके बाद सृजन घोटाला, धान घोटाला, शौचालय घोटाला, छात्रवृति घोटाले सहित हज़ारों करोड़ के अन्य घोटाले हुए है।

तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि आप बिहार के लोगों के प्रेम,सहयोग,समर्थन और विश्वास के दम पर आज 19 विधानसभाओं में सभा की। आपका भरोसा और उत्साह मुझे थकने नहीं देता। इसी ऊर्जा और भरोसे के दम पर हमें नया बिहार बनाना है। उन्होने आगे कहा कि NDA ने मेरे पीछे 30 हेलिकॉप्टर लगा दिए है और हमने अपने अकेले हेलिकॉप्टर को ट्रैक्टर बना दिया है। अब आप बूथ पर डटे रहिए।


वहीं तेजस्वी यादव ने NDTV को दिए एक साक्षातकार में बिहार में रोजगार देने के मुद्दे पर कहा कि मधुबनी में चीनी मिल है, मोतिहारी में चीनी मिल है, कई पेपर मिल हैं, जूट मिल हैं. बिहार में मखाना होता है. केला होता है. मक्का होता है। बंद मिलों को खुलवाना है, फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने पड़ेंगे, तो रोजगार यहां पर मिलेगा. बिहार में टूरिज्म का स्कोप है, गौरवशाली इतिहास है, लोकतंत्र की जननी से लेकर सीता मैया, बोधगया, पहला विश्वविद्यालय से लेकर क्या नहीं है बिहार में.....समुद्र मंथन नाग को जिस पर्वत से रगड़ा गया था, वह बिहार में है। ये सब चीजें होंगी तो बिहार में रोजगार के अवसर मिलेंगे,  सरकारी नौकरी का फायदा भी है, लोग यहीं कमाएंगे, तो यहीं खर्च करेंगे पैसा. यहीं का पैसा यहीं घूमेगा।

0 comments:

Post a Comment