Donate Us

Followers

Friday, September 11, 2020

क्या बिहार चुनाव से ठीक पहले 16000 करोड़ का पैकेज सिर्फ चुनावी जुमला तो नही?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिहार विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही बिहार पर मेहरबान क्यों हैं? प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  अगल 10 दिनों में अलग अलग कार्यक्रम के माध्यम से इस 16000 करोड़ रुपए की विभिऩ्न परियोजनाओं की घोषणा करेगें।

Narendra Modi

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बिहार में अगले 10 दिनों में 16000 करोड़ रुपए की विभिऩ्न परियोजनाओं की घोषणा करने वाले हैं, ये परियोजनाए बिहार की बुनयादी ज़रुरतों से जुड़ी हुई हैं, जिसमें LPG pipeline, LPG Bottling Plant, नमामि गंगे परियोजना के तहत सीव्रेज ट्रीटमेंट प्लांट, नदी तट का विकास, नई रेलवे लाईन और रेलवे पुल का निर्माण, विद्युतिकरण, हाईवे और पुल निर्माण से जुड़ी परियोजना शामिल है। बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के अनुसार आगामी 13 सितम्बर को ही 901 करोड़ रुपए की परियोजना की घोषणा की जा सकती है।

देश रक्षक न्युज़ का सवाल ये है कि क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वाकई बिहार को 16000 करोड़ रुपए की परियोजना का पैकेज देने वाले हैं या यह सिर्फ एक चुनावी जुमला मात्र होगा? देश रक्षक न्युज़ का सवाल इस लिए भी अहम है कि चुनावी काल में ऐसे लोक लुभावन वादे आम बात हैं, नेता चुनाव के दौरान ऐसे वादे कर तो देते हैं लेकिन चुनाव के बाद यह ठंडे बस्ते में चला जाता है और चुँकि यह घोषणा नरेन्द्र मोदी करने वाले हैं तब यह सवाल और भी अहम हो जाता है क्योंकि नरेन्द्र मोदी ने पहले भी कई वादे किए हैं जिसे पुरा नही किया और जब इस पर उनसे सवाल किया गया तो उसे चुनावी जुमला बताते हुए यह कह कर टाल गए कि चुनावी माहौल में बहुत सारी बातें युँ ही कह दी जाती हैं।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 18 अगस्त 2015 को अक्टुबर 2015 में हुई बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भी इसी तरह 1 लाख 25 हजार करोड़ के पैकेज की घोषणा की थी लेकिन घोषणा के 18 महीने बीत जाने के बाद भी इस पैकेज का एक रुपया भी बिहार को नही दिया गया था, जब मुम्बई के RTI Activist अनिल गलगाली ने केन्द्रीय वित्त मंत्रालय में दिसम्बर 2016 में एक RTI फाईल कर इस संबंध में जानकारी माँगी और जब केन्द्रीय वित्त मंत्रालय ने 7 मार्च 2017 को उस RTI का जवाब दिया तब इस बात का खुलासा हुआ था।

इस बात का खुलासा होने के बाद कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने 1 लाख 25 हजार करोड़ के पैकेज के वादे को पुरा नही तब उसकी समय केन्द्र सरकार को जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा, विरोध के तुरंत बाद 16 मार्च 2017 को बिहार सरकार ने घोषणा की कि केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बिहार के लिए घोषित 1 लाख 25 हजार करोड़ रुपए के पैकेज में से बिहार को 28,117.23 करोड़ रुपए मिल गए हैं। लेकिन बचे हुए लगभग 97,000 करोड़ रुपए के पैकेज के भुगतान का कोई अधिकारिक आँकड़ा आज भी मौजुद नही है। गौरतलब है कि 1.25 लाख करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के लिए अतिरिक्त 40,000 करोड़ रुपए की आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की थी जिसके भुगतान का भी कोई अधिकारिक आँकड़ा मौजुद नही है।

इस लिए ये कहना गलत नही होगा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिर्फ चुनावी काल में बिहार की जनता को चुनावी जुमला मात्र परोसते हैं और चुनाव के बाद वह घोषणा ठंडे बस्ते में चला जाता है। बिहार के साथ ऐसा धोखा आखिर कब तक?

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मतस्य विकास योजना के शुभांरभ के मौके पर कल विडियो काँफ्रेंसिंग के माध्यम से 294 करोड़ की योजना का उद्घाटन व शिलान्यास किया था।

0 comments:

Post a Comment