Donate Us

Followers

Saturday, August 15, 2020

MS Dhoni : महेन्द्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संयास, यहाँ जानिए उनके रिकॉर्ड और कैरियर।

 कैप्टन कूल के नाम से मशहुर भारतीय क्रिकेटर, विकेटकीपर और कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संयास की घोषणा कर दी है। धोनी के नाम कई अनोखे रिकॉर्ड्स हैं जिनका चर्चा हम आगे करेगें।

महेन्द्र सिंह धोनी ने 23 दिसम्बर 2004 को बँग्लादेश के खिलाफ वनडे मैच से अपने कैरियर की शुरुआत की थी और न्युजीलैंड के खिलाफ 9 जुलाई 2019 को अपना आखिरी वनडे और आखिरी इंटरनेशनल क्रिकेट मैच खेला था।

उन्होने अपनी कप्तानी में भारत को कई ट्रॉफिज़ दिलवाई जिसमें 2007 में पहली बार आयोजित हुई T20 International World Cup में भारत के चीर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ फाईनल में मिली जीत अहम है। भारत ने धोनी की कप्तानी में पाकिस्तान को कड़े मुकाबले में मात देकर पहला T20 World Champion बनने का गौरव हासिल किया था, उसके बाद 2011 में ODI World Cup जाता कर धोनी ने भारत को दुसरी बार ODI World Champion बनाया था, धोनी की कप्तानी में ही 2013 में इंग्लैंड में आयोजित चैम्पीयन ट्रॉफी भी भारत ने जीता था। इस तरह से धोनी के नाम यह अनोखा रिकॉर्ड दर्ज हो गया कि वह ICC द्वारा आयोजित तीनों ही ट्रॉफिज़ जीतने वाले दुनिया के पहले कप्तानी बन गए और यह रिकॉर्ड आज भी उन्ही के नाम दर्ज है।

धोनी की कप्तानी में भारत 2009 में टेस्ट लिस्ट में पहला स्थान दर्ज किया और 600 दिनों तक पहले नम्बर पर रहा, धोनी घर पर 21 टेस्ट मैच जीत कर घर पर (अपने देश में) सबसे ज़्यादा टेस्ट जीतने वाले कप्तान बने, साथ ही दुनिया में सबसे ज़्यादा इंटरनेशनल मैच (332 मैच) में कप्तानी करने का रिकॉर्ड भी धोनी के नाम पर दर्ज है। वह लिस्ट के पीछे बतौर विकेटकीपर भी बहुत फुर्तीले और चतुर थें उनके नाम सबसे ज़्यादा 195 स्टंपींग करने का रिकॉर्ड भी दर्ज है।

महेन्द्र सिंह धोनी 1999 से 2004 तक बिहार की तरफ से क्रिकेट खेला फिर 2004-05 से अब तक झारखण्ड और भारत के लिए खेलते आए थें।

आईये धोनी के क्रिकेटिंग कैरियर पर एक नज़र डालते हैं……

MS Dhoni Carrier


0 comments:

Post a Comment